16.8 C
New York
Thursday, June 8, 2023

Buy now

spot_img

ZINDAGI YE NAHI HAI KISI KE LIYE FULL NAAT

- Advertisement -

ZINDAGI YE NAHI HAI KISI KE LIYE NAAT LYRICS | Ala Hazrat Naat lyrics in hindi | New Naat Pak In Hindi | Naat Sharif In Hindi ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

Naat Hindi ZINDAGI YE NAHI HAI KISI KE LIYE

Naat Sharifज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए
Naat KhawanN/A
CategoryNaat Pak
CreditGorakhpurHindi
VidioN/A
Mp3Update Soon
ZINDAGI YE NAHI HAI KISI KE LIYE NAAT LYRICS

ZINDAGI YE NAHI HAI KISI KE LIYE NAAT LYRICS

Zindagi Ye Nahi Hay Kisi Ke Liye

- Advertisement -

Zindagi Hay Nabi Ki, Nabi Ke Liye

Na-Samajh Martay Hain Zindagi Ke Liye

Jeena Marna Hay Sab Kuch Nabi Ke Liye

Chandni Chaar Din Hay Sabhi Ke Liye

Hay Sada Chaand Abdun Nabi Ke Liye

“Anta Feehim” Ke Daaman Mein Munkir Bhi

Hain Hum Rahay Ishrat-E-Daaimi Ke Liye

Aeysh Kar Lo Yahan Munkiro Chaar Din

Mar Ke Tarso Ge Iss Zindagi Ke Liye

Daag E Ishq E Nabi Le Chalo Qabr Mein

Hay Charaag E Lahad Roshni Ke Liye

Naqsh E Paa E Sagaan E Nabi Dekhiye

Ye Pataa Hay Bohat Rahbari Ke Liye

Maslake Aala Hazrat Salamat rahe

Ek pahechan Deene Nabi ke liye

Maslake aala Hazrat pe kayim raho

Zindagi di gayi hai isi ke liye

Sul-he kulli Nabi ka nahi Sunniyon

Sunni Muslim hai sacha Nabi ke liye

Wo Bulaatay Hain, Koi Ye Awaz De

Dam Mein Jaa Pohnchun Mein Haaziri Ke Liye

Aey Naseem E Saba Unn Se Keh De Zara

Muztarib Hay Gadaa Haaziri Ke Liye

Jin Ke Dil Mein Hay Ishq E Nabi Ki Chamak

Wo Tarastay Nahin Chaandni Ke Liye

Jin Ke Dil Mein Hain Jalway Teray Ishq Ke

Wo Hain Najm E Zamaan Roshni Ke Liye

AKHTAR E Qadiri Khuld Mein Chal Diya

Khuld Waa Hay Har Ik Qaadiri Ke Liye

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए हिंदी नात

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

नासमज मरते हैं ज़िन्दगी के लिए

जीना मरना है सब कुछ नबी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

अन्त फ़ीहिम के दामन में मुनकिर भी हैं

हम रहे इशरते दायमी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

ऐश करलो यहाँ मुन्किरों चार दिन

मरके तरसोगे इस ज़िन्दगी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

दागे इश्क़े नबी ले चलो क़ब्र में

है चरागे लहद रोशनी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

नक़्शे पा-इ-सगाने नबी देखिये

ये पता है बहोत रहबरी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

मसलके आला हज़रात सलामत रहे

एक पहचान दीने नबी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

सुल्हे कुल्ली नबी का नहीं सुन्नियों

सुन्नी मुस्लिम है सच्चा नबी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

वो बुलाते हैं कोई ये आवाज़ दे

दम में ज़ पहुंचूं में हाज़री के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

अखतरे क़ादरी खुल्द में चल दिया

खुल्द गाह है हर एक क़ादरी के लिए

ज़िन्दगी ये नहीं है किसी के लिए

ज़िन्दगी है नबी की नबी के लिए

यह भी पढ़े:

- Advertisement -

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles