AHAD NAMA KI FAZILAT – अहद नामा की फजीलत हिंदी में

- Advertisement -

AHAD NAMA KI FAZILAT IN HINDI अहद नामा की फजीलत हिंदी में अहद नामा कौन से पारे में है अहद नामा अरबी में

अहद नामा एक रूहानी दुआ है। इस दुआ का मकसद अल्लाह तआला से ईमान को मजबूती देना है। यह दुआ ईमान और ताक़त को बढ़ाने के लिए पढ़ी जाती है और इसका पढ़ने का तरीक़ा भी बहुत ही आसान है जो आपको नीचे बताया जाएगा।

AHAD NAMA KI FAZILAT - अहद नामा की फजीलत हिंदी में
AHAD NAMA KI FAZILAT अहद नामा की फजीलत हिंदी में

- Advertisement -

अहद नामा की फजीलत हिंदी में – AHAD NAMA KI FAZILAT

यहां जानिये अहद नामा की फजीलत हिंदी में – AHAD NAMA KI FAZILAT – अहद नामा की फ़ज़ीलत की बात करते हैं, तो इसमें बहुत से रूहानी फ़वाइद हैं। इस दुआ को पढ़ने से इंसान का ईमान और तवक्क़ुल अल्लाह पर मज़बूत होता है।

अहद नामा पढ़ने से रूहानी क़ुव्वत में इज़ाफ़ा होता है और शैतानी वास्वसाएँ से बचने में मदद मिलती है। इस दुआ को पढ़ने का तरीक़ा बहुत ही आसान है, जिसके वजह से हर मुसलमान इसे पढ़ सकता है।

- Advertisement -

Ahad Nama पढ़ने का तरीक़ा

Ahad Nama को पढ़ने का तरीक़ा भी बहुत ही आसान है। इस दुआ को रोज़ाना पढ़ना चाहिए, ताकि रूहानी बरकत और ताक़त में इज़ाफ़ा हो। इस दुआ को पढ़ते वक़्त वुज़ू बनाएं और अल्लाह तआला से ख़ुद को उसके हिफ़ाज़त में रखें और ईमान की ताक़त के लिए दुआ करें। इस दुआ को पढ़ने के बाद किसी भी दुआ या हाज़त की तलब करें, और अल्लाह की बरगाह में अपने मक़सदों की कामयाबी की दुआ करें।

अहम मशवरे

  • Ahad Nama को रोज़ाना पढ़ने का मामूल बनाएं।
  • इस दुआ को पढ़ने के बाद अपने मक़सदों और हाज़तों की दुआ करें।
  • Ahad Nama को पढ़ने से पहले वुज़ू बनाएं और अल्लाह की बरगाह में ख़ुद को पेश करें।
  • इस दुआ को पढ़ते वक़्त पूरा ध्यान दें और ईमान के साथ पढ़ें।
  • इस दुआ को पढ़ने के बाद अल्लाह की रहमत और फ़ज़ल की तलब करें।

सवाल जवाब

Ahad Nama को कब पढ़ना चाहिए?

इस दुआ को रोज़ाना पढ़ना चाहिए, ताकि रूहानी बरकत और ताक़त में इज़ाफ़ा हो सके।

इस दुआ को पढ़ने का तरीका क्या है?

यह दुआ को वुजू बनाकर पढ़ना चाहिए, और अल्लाह की बरगाह में खुद को पेश करना चाहिए।

अहद नामा पढ़ने से क्या फायदे होते हैं?

इस दुआ को पढ़ने से ईमान मजबूत होता है और रूहानी तावुन में इजाफा होता है।

इस तरह से अहद नामा एक मुकम्मल दुआ है जो हर मुसलमान को पढ़नी चाहिए। इस दुआ को रोज़ाना पढ़कर ईमान को मज़बूती देनी चाहिए और अल्लाह की रहमत और फ़ज़ल की तलब करनी चाहिए।

READ THIS

- Advertisement -

Advertisement

ALA HAZRAT NAAT LYRICS...

Ala Hazrat Naat Lyrics in Hindi आला हजरत नात लिरिक्स Manqabat e Ala Hazrat Lyrics hindi Ahmed Raza Khan Barelvi naat lyrics New In Hindi English Urdu

SUNA JUNGLE RAAT ANDHERI...

सुना जंगल रात अंधेरी नात शरीफ Suna Jungle Raat Andheri Lyrics in Hindi सोना जंगल रात अंधेरी छाई बदली काली है नात शरीफ sona jungle raat andheri

UNKI MEHAK NE DIL...

उनकी महक ने दिल के UNKI MEHAK NE DIL KE LYRCIS UNKI MEHAK NE DIL KE GHUNCHE KHILA DIYE LYRICS IN HINDI ENGLISH FULL unki mahek ne dil ke tazmeen lyrics

NABI NAAT SHARIF LYRICS...

NABI NAAT SHARIF LYRICS IN HINDI - नबी की नात शरीफ लिरिक्स कौन देता है देने को मुंह चाहिए देने वाला है सच्चा हमारा नबी नबी की नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई

नमाज में दुआ मांगने...

नमाज में दुआ मांगने का तरीका Namaz Me Dua Mangne Ka Tarika In Hindi dua mangne ka tarika lyrics अल्लाह से दुआ मांगने का तरीका जाने हिंदी में

रोजा मकरूह होने की...

रोजा मकरूह होने की वजह Roza Makrooh Hone Ki Wajah roza makrooh kaise hota hai roza makrooh ka matlab roza makrooh meaning in hindi