8.3 C
New York
Thursday, April 18, 2024

Buy now

spot_img

तरावीह नमाज़ का तरीका Taraweeh Namaz Ka Tarika For Ladies New

- Advertisement -

तरावीह नमाज़ का तरीका Taraweeh Namaz Ka Tarika: नमाज को इस्लाम में सबसे अधिक महत्व दिया जाता है क्योंकि नमाज ही जो एक इंसान को अल्लाह रब्बुल इज्जत को नजदीक करता है ऐसे में आइये आज जाने तरावीह नमाज़ का तरीका हिंदी में

Taraweeh Namaz Ka Tarika

  • 4 रकअत ईशा की सुन्नत पहले पढ़े
  • 4 रकअत ईशा की फर्ज फिर पढ़े
  • 2 रकअत ईशा की सुन्नत
  • 2 रकअत ईशा की नफ़्ल
  • 20 रकअत तरावीह की सुन्नते मुवककेदा नमाज
  • 3 रकअतवित्र वाजिब (2 तदबीरों के साथ)
  • 2 रकअत ईशा की नफ़्ल अप्धे

तरावीह नमाज़ का तरीका

  • सबसे पहले तरावीह नमाज़ की नियत करें
  • नियत की मैंने दो रकात नमाज़ सुन्नत तरावीह की
  • वास्ते अल्लाह तआला के पीछे इस इमाम के, वक्त इशा का , मुहं मेरा कअबा शरीफ़ की तरफ़~
  • अल्लाहु अकबर” कह कर हाथ बाँध लेना है
  • इसके बाद सना पढ़े
  • सना: सुबहाना कल्ला हुम्मा व बिहम्दिका व तबारा कस्मुका व त’आला जद्दुका वला इलाहा गैरुका
  • सना पढ़ने के बाद मस्जिद में इमाम साहब की कुरान तिलावत सुने
  • जब “अल्लाहु अकबर कहे तो रुकू में, फिर सजदे में, जलसा में इत्यादि
  • 2 रकात तरावीह की नमाज ख़त्म होने के बाद तरावीह नमाज़ की दुआ पढ़े
  • दुआ सबसे आखिर में लिखा गया है

HIGHLIGHT

  • तरावीह की नमाज 20 रकात की होती है जिसे निम्न तरीके से पढ़े-
  • 2+2=4= तरावीह की दुआ
  • 2+2=4= तरावीह की दुआ
  • 2+2=4= तरावीह की दुआ
  • 2+2=4= तरावीह की दुआ
  • 2+2=4= तरावीह की दुआ
  • कुल=20 रकात इस तरह से नमाज मुकम्मल करें

For Ladies: तरावीह नमाज़ का तरीका

  • सबसे पहले औरत (For Ladies) तरावीह नमाज की नियत यूँ करें
  • नियत की मैंने दो रकात नमाज़ सुन्नत तरावीह की
  • वास्ते अल्लाह तआला के, वक्त इशा का , मुहं मेरा कअबा शरीफ़ की तरफ़~
  • अल्लाहु अकबर” कह कर हाथ बाँध लेना है
  • हाँथ सीने पर छाती के नीचे बांधे
  • फिर सना, तअव्जुज तस्मिया, सूरह फातिहा, सूरह इखलास पढ़े
  • सना: सुबहा-न-कल्लाहम्म व् बि हम्दी- क व तबा-र-कस्मु-क व् तआला जद्दु-क व् ला इला-ह-गेरू-क
  • तअव्जुज तस्मिया: अऊजु बिल्लाह मिनश-शैतानीर-रजीम, बिस्मिल्लाहिर्रहूमानीर्रहीम
  • सूरह फातिहा: अलहम्दु लिल्लाहि रब्बिल आलमीन अर्रहमान निर्रहीम
  • मालिकी यौमेद्दीन इय्याका नाबुदु व इय्याका नस्तईन
  • इहदिनस सिरातल मुस्तकीम सिरातल लजिना अन अमता
  • अलैहिम गैरिल मग्ज़ुबी अलैहिम वलज्जाल्लीन”- आमीन
  • सूरह इखलास: कुल हुवल लाहू अहद अल्लाहुस समद
  • लम यलिद वलम यूलद वलम यकूल लहू कुफुवन अहद
  • इसके बाद “अल्लाहु कहते हें रुकुअ में चले जाएँ
  • रूकुअ में 3 बार सुबहा-न-रब्बियल अजीम पढ़े
  • NOTE: औरत की तरावीह की नमाज अन्य नमाज की तरह होती है
  • केवल फर्क इतना है कि तरावीह की नमाज पढ़ते समय औरत/मर्द को चाहिए कि-
  • तरावीह की नमाज की नियत करें
  • जब दो रकात नमाज मुकम्मल हो जाएँ उसके बाद तरावीह नमाज की दुआ पढ़े
  • औरतों की नमाज का तरीका सीखे क्योंकि वही तरावीह की नमाज का तरीका भी है

तरावीह नमाज की दुआ

  • तराबीह की तस्बीह – TARABIH KI DUA HINDI
  • सुब्हा-नल मलिकिल क़ुद्दूस
  • सुब्हा-न ज़िल मुल्कि वल म-ल कूत
  • सुब्हा-न ज़िल इज्जती वल अ-ज़-मति वल-हैबति वल क़ुदरति वल-किब्रियाइ वल-ज-ब-रुत
  • सुब्हा-नल मलिकिल हैय्यिल्लज़ी ला यनामु व ला यमूत
  • सुब्बुहुन कुद्दूसुन रब्बुना व रब्बुल मलाइकति वर्रूह
  • अल्लाहुम्मा अजिरना मिनन्नारि
  • या मुजीरु या मुजीरु या मुजीर
  • DUA ENGLISH:
  • Subhanal Malikil Quddus।
  • Subhana jil Mulki wal Malakuti।
  • Subhana jil izzati wal ajhmati wal haybati wal Qudrati। wal kibriyaa’i wal jabaroot।
  • Subhanal Malikil hayyil lajhi, la yunaamu
  • wa layamutu। Subbuhun, Quddusun, Rabbuna Rabbul malaa’ikati war-rooh।
  • Allahumma Ajirnee akhlusna Minan Naar।
  • Ya Mujeero, Ya Mujeero, Ya Mujeer।
  • DUA ARABIC TEXT:
  • سُبْحانَ ذِي الْمُلْكِ وَالْمَلَكُوتِ ☜
  • سُبْحانَ ذِي الْعِزَّةِ وَالْعَظْمَةِ وَالْهَيْبَةِ وَالْقُدْرَةِ وَالْكِبْرِياءِ وَالْجَبَرُوْتِ
  • سُبْحانَ الْمَلِكِ الْحَيِّ الَّذِيْ لا يَنامُوَلا يَمُوتُ
  • سُبُّوْحٌ قُدُّوْسٌ رَبُّناوَرَبُّ المْلائِكَةِ وَالرُّوْحِ
  • اللَّهُمَّ أَجِرْنا مِنَ النّارِيا مُجيرُ يا مُجيرُ يا مُجيرُ

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles