क़ल्ब ए आशिक़ है अब पारा पारा Qalb e aashiq hai Naat Lyrcis

- Advertisement -

क़ल्ब ए आशिक़ है अब पारा पारा Qalb e aashiq hai Naat Lyrcis qalb e aashiq hai ab para para lyrics kalbe aashiq hua para para lyrics in Hindi

क़ल्ब ए आशिक़ है अब पारा पारा नात लिरिक्स

  • क़ल्ब-ए-‘आशिक़ है अब पारा पारा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • कुल्फ़त-ए-हिज्र-ओ-फ़ुर्क़त ने मारा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • तेरे आने से दिल ख़ुश हुआ था
  • और ज़ौक़-ए-‘इबादत बढ़ा था
  • आह ! अब दिल पे है ग़म का ग़लबा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
    मस्जिदों में बहार आ गई थी
  • जौक़-दर-जौक़ आते नमाज़ी
  • हो गया कम नमाज़ों का जज़्बा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • बज़्म-ए-इफ़्तार सजती थी कैसी
  • ख़ूब सहरी की रौनक़ भी होती
  • सब समाँ हो गया सूना सूना
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • तेरे दीवाने अब रो रहे हैं
  • मुज़्तरिब सब के सब हो रहे हैं
  • हाए ! अब वक़्त-ए-रुख़्सत है आया
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • तेरा ग़म हम को तड़पा रहा है
  • आतिश-ए-शौक़ भड़का रहा है
  • फट रहा है तेरे ग़म में सीना
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • याद रमज़ाँ की तड़पा रही है
  • आँसूओं की झड़ी लग गई है
  • कह रहा है ये हर एक क़तरा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • हसरता ! माह-ए-रमज़ाँ की रुख़्सत
  • क़ल्ब-ए-‘उश्शाक़ पर है क़ियामत
  • कौन देगा उन्हें अब दिलासा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • तुम पे लाखों सलाम, माह-ए-ग़ुफ़राँ !
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • जाओ हाफ़िज़ ख़ुदा अब तुम्हारा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • नेकियाँ कुछ न हम कर सके हैं
  • आह ! ‘इस्याँ में ही दिन कटे हैं
  • हाए ! ग़फ़्लत में तुझ को गुज़ारा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • वासिता तुझ को मीठे नबी का
  • हश्र में हम को मत भूल जाना
  • रोज़-ए-महशर हमें बख़्शवाना
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • जब गुज़र जाएँगे माह ग्यारह
  • तेरी आमद का फिर शोर होगा
  • क्या मेरी ज़िंदगी का भरोसा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • माह-ए-रमज़ाँ की रंगीं फ़ज़ाओ !
  • अब्र-ए-रहमत से मम्लू हवाओं !
  • लो सलाम आख़िरी अब हमारा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • कुछ न हुस्न-ए-‘अमल कर सका हूँ
  • नज़्र चंद अश्क़ मैं कर रहा हूँ
  • बस यही है मेरा कुल असासा
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • हाए ! ‘अत्तार-ए-बद-कार काहिल
  • रह गया ये ‘इबादत से ग़ाफ़िल
  • इस से ख़ुश हो के होना रवाना
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !
  • साल-ए-आइंदा, शाह-ए-हरम ! तुम
  • करना ‘अत्तार पर ये करम तुम
  • तुम मदीने में रमज़ाँ दिखाना
  • अल-वदा’अ, अल-वदा’अ, माह-ए-रमज़ाँ !

क़ल्ब ए आशिक़ है अब पारा पारा Qalb e aashiq hai Naat Lyrcis

Qalb e Aashiq hai ab para para Lyrics

  • Qalb-e-Aashiq Huva Para Para
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan Lyrics
  • Qalb e Aashiq Hai Ab Para Para,
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan.
  • Kulfate Hijro Kulfat Ne mara
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan
  • Tere Aaney Se Dil Khush Huwa Tha,
  • Aur Zoak-e-Ibadat Badha Tha,
  • Aahh Ab Dil Pe Hain Ghum Ka Galba,
  • Alwada Alwada Mahe-e-Ramazan.
  • Bazme Iftar Sajti Thi Kaisi
  • Khoob Sehri ki rounaq bhi Hoti
  • Ho gaya sub sama suna suna
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan
  • Kuch na Husne Amal Kar saka Hoon
  • Nazr chand Ashk Mein kar raha hoon
  • Bas Yehi hai mera kul asasa
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan
  • Tum Pe Lakhon Salam Mahe Ramazan
  • Tum Pe Lakhon Salam Mahe Ghufran
  • Jao Hafiz Khuda Ab Tumhara
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan
  • Wasta Tujh Ko Pyare Nabi ﺼﻟﻰﷲﻋﻟﻴﻪ ﻮﺴﻟﻣ Ka
  • Hashr Mein Hum ko na bhool Jana
  • Roze Mehshar Hu ko baqsh wana
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan
  • Jub Guzar Jayenge Mah Giyara,
  • Teri Aamad Ka Phir Shore Hoga,
  • Kiya Bharosa meri zindagi ka,
  • Alwada Alwada Mah-e-Ramazan.
  • Sal-e- A’inda Shahe Haram Tum
  • Karna  Par Yeh Karam Tum ( صلى الله عليه وسلم)
  • Phir Madine Mein Ramazan Dikhana
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan
  • Tere Diwane Sub Ke Sub Ro Rahe Hain,
  • Muztarib Sub Ke Sub Ho Rahe Hain,
  • Kaun Dega Inhe Ab Dilasa,
  • Alwada Alwada Mahe Ramazan.
  • Naikiyan Kuch Na Hum Kar Sakain Hain,
  • Aah Issiya He Main Din Katain Hain,
  • Haaye Gaflat Main Tujh Ko Guzara,
  • Alvada Alvada Mah-e-Ramazan.
  • Sag-e-ATTAR, Badkar, kahil,
  • Rah Gaya Yeh Ibadat Se Gaafil,
  • Is Se khush Hoke Hona Rawana,
  • Hum Sub Se Khush Hoke Hona Rawana,
  • ALVIDA ALVIDA MAHE-E-RAMAZAN,
  • ALVIDA ALVIDA MAHE-E-RAMAZAN.

क़ल्ब ए आशिक़ है अब पारा पारा Qalb e aashiq hai Naat Lyrcis

- Advertisement -

Advertisement

AHAD NAMA KI FAZILAT...

AHAD NAMA KI FAZILAT IN HINDI अहद नामा की फजीलत हिंदी में अहद नामा कौन से पारे में है अहद नामा अरबी में अहद नामा एक रूहानी दुआ है।

ALA HAZRAT NAAT LYRICS...

Ala Hazrat Naat Lyrics in Hindi आला हजरत नात लिरिक्स Manqabat e Ala Hazrat Lyrics hindi Ahmed Raza Khan Barelvi naat lyrics New In Hindi English Urdu

SUNA JUNGLE RAAT ANDHERI...

सुना जंगल रात अंधेरी नात शरीफ Suna Jungle Raat Andheri Lyrics in Hindi सोना जंगल रात अंधेरी छाई बदली काली है नात शरीफ sona jungle raat andheri

UNKI MEHAK NE DIL...

उनकी महक ने दिल के UNKI MEHAK NE DIL KE LYRCIS UNKI MEHAK NE DIL KE GHUNCHE KHILA DIYE LYRICS IN HINDI ENGLISH FULL unki mahek ne dil ke tazmeen lyrics

NABI NAAT SHARIF LYRICS...

NABI NAAT SHARIF LYRICS IN HINDI - नबी की नात शरीफ लिरिक्स कौन देता है देने को मुंह चाहिए देने वाला है सच्चा हमारा नबी नबी की नात शरीफ हिंदी में लिखी हुई

नमाज में दुआ मांगने...

नमाज में दुआ मांगने का तरीका Namaz Me Dua Mangne Ka Tarika In Hindi dua mangne ka tarika lyrics अल्लाह से दुआ मांगने का तरीका जाने हिंदी में