2.1 C
New York
Thursday, February 29, 2024

Buy now

spot_img

दीन की बातें हिंदी में | Deen Ki Baatein Hindi Full 1 | अल्लाह की दीन की बातें

- Advertisement -

दीन की बातें हिंदी में पार्ट | अल्लाह की दीन की बातें | Deen Ki Baatein Hindi इस्लाम की बातें हिंदी में deen duniya ki baatein hindi हदीस की अच्छी-अच्छी बातें PDF

दीन की बातें हिंदी में

कब्र, चर्बी और गोश्त खा सकती है
लेकिन ईमान नहीं खा सकती है

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
जब नमाज के लिए
तकबीर कही जाएँ तो
दौड़ते हुए बल्कि आओ
इस्मिनान के साथ
फिर जो हिस्सा पा लो उसे पढ़ लो
और जो रह जाए उसे बाद में पढ़ो

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
लज्जतो को तोड़ने वाली
यानी मौत को कसरत से याद किया करों
हर जानदार को मौत का मजा चखना है

بِسْمِ ٱللَّٰهِ ٱلرَّحْمَٰنِ ٱلرَّحِيمِ
किधर जा रहे हो? रुक जाओ
अल्लाह तुम्हारे और मेरे वह गुनाह बख्स दें
जिसकी वजह से दुआए काबुल नहीं हो रही है
आमीन

इंसानों को गुलाम बनाकर तो
हजारो बादशाह बने लेकिन
गुलामो को इंसान बनाकर
जो बादशाह बने वह हमारे नबी ﷺ है

Deen Ki Baatein Hindi Me

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
ईमान की साठ (60) से
कुछ ऊपर शाखें है और
हया (शर्म भी) भी
ईमान की एक शाखा है

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
बखील (कंजूस) वह है
जिसके सामने मेरा जिक्र किया जाए
और फिर भी मुझ पर दुरुद न भेजे

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
जो शख्स पूरा वुजू करे और फिर यह दुआ पढ़े
أشْهَدُ أنْ لا إلهَ إلا اللَّهُ وَحْدَهُ لا شَرِيكَ لَهُ، وَأَشْهَدُ أَنَّ مُحَمَّدًا عَبْدُهُ وَرَسُوله
तो उस के लिये जन्नत के आठों दरवाजे खोल दिये जाते हैं
कि जिस से चाहे दाखिल हो ।

मुस्लिम – किताबुत्तहारत – हदीस नं० 234

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
कबीरा गुनाह, अल्ल्लाह के साथ शिर्क करना
वालिदेन की नाफ़रमानी करना
किसी को नाहक कत्ल करना और
झ्हुती कसम खाना

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
तुम किसी की कमजोरीयों की तलाश में न रहो और
जासूसों की तरह किसी के ऐब मालुम करने की कोशिश भी न करों

अल्लाह की दीन की बातें हिंदी में

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
जो शख्स किसी मुसलमान की
दुनियावी तकलीफों में से कोई तकलीफ
दूर करता है तो अल्लाह तआला
क़यामत के दिन उसकी तकलीफ दूर करेगा

सबसे अच्छा मजहब मिला
सबसे अच्च्छी किताब मिली
सबसे आला नबी ﷺ मिले
इसी बात पर कह दो …….
अल्हम्दुलिलाह

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
जो ऐसे रास्ते पर चला
जिसमे इल्म की तलाश करता हो
अल्लाह तआला उसके लिए
जरिये जन्नत का रास्ता आसान फरमा देता है

हुज़ूर ﷺ ने फ़रमाया
“वह जवान जिसकी जवानी
अल्लाह की इबादत में गुज़री
उसे अल्लाह ता’ला रोज़े महशर
अपने अर्श का साया अता फ़रमाएँगे
(📚बुख़ारी 6806)

وَ اللّٰہُ اَعۡلَمُ بِاَعۡدَآئِکُمۡ ؕ وَ کَفٰی بِاللّٰہِ وَلِیًّا ٭۫ وَّ کَفٰی بِاللّٰہِ نَصِیۡرًا ﴿۴۵
अल्लाह तुम्हारे दुश्मनों को ख़ूब जानता है
और तुम्हारी हिमायत व मददगारी के लिये अल्लाह ही काफ़ी है।
#Quran 4:45

दीन इस्लाम की बातें हिंदी में

रसूल अल्लाह ﷺ ने फ़रमाया 💕
बेशक अल्लाह जालिमो को ढील
देता रहता है लेकिन जब वह उसे
पकड़ता है तो उसे छोड़ता नहीं

सहीह बुखारी हदीस न. 4686

रसूल अल्लाह ﷺ ने फ़रमाया 💕
ऐ लोगो सलाम को आम करना
दुसरो को खाना खिलाना
रिश्तेदारियों को कायम रखना और
रात को जब लोग सों रहे हो तो नमाज पढना
तुम सलाम के साथ जन्नत में दाखिल हो जाओगे

सुन्न इब्ने माजा हदीस न. 3251

रसूल अल्लाह ﷺ ने फ़रमाया 💕
अल्लाह जिसके साथ
खैर व भलाई चाहता है
उसे बिमारी की तकलीफ और दीगर
मुसीबतों में मुब्तला कर देता है

सहीह बुखारी हदीस न 5645

रसूल अल्लाह ﷺ ने फ़रमाया 💕
मेरे उम्मत के तमाम लोगो के
गुनाह अल्लाह बख्श देगा सिवाय
उन लोगो के जो गुनाह करके फख्र से
लोगो का बताएंगे के हमने यह गुनाह किया है

सहीह बुखारी हदीस न 6069

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles